बिल्वादि चूर्ण बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

बिल्वादि चूर्ण बनाने के लिए इन जड़ी-बूटियों की आवश्यकता होगी. बिल्वादि चूर्ण बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे.

1 .बेल की गिरी- 20 ग्राम.

2 .मोचरस- 20 ग्राम.

3 .सोठ- 20 ग्राम.

4 .धायफूल- 20 ग्राम.

5 .धनिया- 20 ग्राम.

6 .सौंफ- 20 ग्राम.

7 .भांग- 20 ग्राम.

8 .लोध्रपठानी- 20 ग्राम.

9 .नागर मोथा- 20 ग्राम.

10 .आम की गुठली- 20 ग्राम.

11 .कूड़ा ( कोरया ) छाल- 20 ग्राम.

बनाने की विधि- उपर्युक्त सभी चीजों को लेकर अच्छी तरह से पीसकर  चूर्ण बनाकर सुरक्षित रखें.

बिल्वादि चूर्ण बनाने की विधि, उपयोग एवं फायदे

बिल्वादि चूर्ण के उपयोग एवं फायदे-

1 से 3 ग्राम की मात्रा में पानी या छाछ के साथ दिन में 3 बार सेवन करें.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment