गर्मियों में शहतूत खाने के आश्चर्यजनक फायदे

हेल्थ डेस्क- गर्मी की शुरुआत होते ही शहतूत अक्सर पककर तैयार हो जाता है. शहतूत एक लोकप्रिय फल है जो स्वादिष्ट और रसीला होता है. शहतूत को अंग्रेजी में मलबेरी ( Mulberry ) कहते हैं. इसका वैज्ञानिक नाम मोरस अल्बा है. शहतूत की तासीर ठंडी होने के कारण गर्मियों में इसका रस का सेवन करना काफी लाभदायक होता है. शहतूत का रस पीने से शरीर में होने वाली पानी की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है.

गर्मियों में शहतूत खाने के आश्चर्यजनक फायदे

इतिहास के अनुसार शहतूत की सबसे पहले खेती चीन में की गई थी. लेकिन इसके स्वाद और गुणों के कारण शहतूत की खेती आज पूरे विश्व में की जाने लगी है. भारत में शहतूत की खेती उत्तराखंड, पंजाब, कश्मीर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश आदि राज्यों में अधिक की जाती है. हालांकि शहतूत जंगलों में भी जंगली शहतूत पाया जाता है. शहतूत में पाए जाने वाले पोषक तत्व और गुण स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के साथ ही त्वचा और बालों के लिए भी काफी लाभदायक होते हैं.

शहतूत में पाए जाने वाले पोषक तत्व-

शहतूत में पोटेशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन, सोडियम, जिंक, कॉपर और सेलेनियम के साथ ही विटामिन सी, रिवोफ्लेविन, फोलिक एसिड, विटामिन बी6 विटामिन बी और विटामिन के जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं. इसके अलावा शहतूत एंटीऑक्सीडेंट का भी बेहतर स्रोत होता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होता है.

शहतूत खाने के फायदे-

1 .पाचन तंत्र को स्वस्थ व मजबूत बनाए रखने के लिए शहतूत का सेवन काफी लाभदायक होता है. इसमें पाए जाने वाला फाइबर पाचन क्रिया में सुधार कर पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और पाचन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मददगार होता है.

2 .शहतूत का सेवन खून की कमी को दूर करने में भी मददगार होता है. शहतूत खून में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मददगार होता है और एनीमिया के जोखिम को कम करने में अहम भूमिका निभाता है. खून की कमी को पूरा करने के लिए नियमित रूप से शहतूत का सेवन करना लाभदायक होता है.

3 .हृदय को स्वस्थ रखने के लिए भी शहतूत का सेवन करना फायदेमंद होता है. शहतूत के सेवन कोलेस्ट्रोल के स्तर को सामान्य रखा जा सकता है जो हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है. इसके अलावा एक शोध के अनुसार शहतूत की पत्तियों में एंटी हाइपरटेंसिव तत्व पाया जाता है. यह तत्व हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी अन्य ह्रदय जोखिम को कम करने में मददगार होता है. इसलिए हृदय को स्वस्थ रखने के लिए शहतूत के फल और सब्जियों का सेवन करना फायदेमंद होता है.

4 .फ़्लू और कोल्ड बचाव के लिए भी शहतूत का सेवन करना फायदेमंद होता है. शहतूत के जूस का सेवन प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार होता है जो शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है. इसके अलावा शहतूत कुछ सामान्य बुखार, सर्दी, जुकाम के साथ फ़्लू से भी बचाव करने में मददगार होता है.

5 .त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी शहतूत का सेवन फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें विटामिन ए और विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाई जाती है जो त्वचा के लिए प्रमुख घटक के रूप में काम करती है. इसके अलावा शहतूत में beta-carotene, अल्फा कैरोटीन जैसे तत्व मौजूद होते हैं जो त्वचा में एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करते हैं. त्वचा के दाग- धब्बों को दूर कर त्वचा को कोमल बनाए रखने में मददगार होता है.

6 .मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी शहतूत का सेवन करना लाभदायक होता है. शहतूत मस्तिष्क कोशिकाओं को नुकसान पहुंचने से बचाती है. इसके अलावा शहतूत में न्यूरोप्रोटेक्टिव का प्रभाव पाया जाता है जो मस्तिष्क के तंत्रिका तंत्र से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है जो दिमाग को स्वस्थ रखने के साथ मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार होता है.

7 .रक्त संचार में सुधार के लिए भी शहतूत का सेवन करना लाभदायक होता है. शहतत का सेवन करने से खून साफ होता है और रक्त संचार में सुधार होता है. इसलिए शहतूत का सेवन रक्त संचार में सुधार के लिए भी लाभदायक है.

8 .मधुमेह रोगियों के लिए भी शहतूत का सेवन करना फायदेमंद होता है. शहतूत के सेवन से रक्त में मौजूद शुगर के स्तर को कम करने में मदद मिलती है जो मधुमेह रोगियों के लिए लाभदायक होता है.

9 .शहतूत का सेवन आंखों के लिए भी फायदेमंद होता है. यह आंखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार होता है क्योंकि इसमें विटामिन ए की प्रचुर मात्रा पाई जाती है. विटामिन ए आंखों के स्वास्थ्य के लिए प्रमुख घटक के रूप में काम करता है जो आंखों की रोशनी बढ़ाने के साथ आंखों से जुड़ी अन्य समस्याओं को भी कम करने में मददगार होता है.

10 .शहतूत का सेवन कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक होता है. एक अध्ययन के मुताबिक शहतूत में पॉलीफेनॉल और फ्लेवोनॉयड तत्व पाए जाते हैं. यह तत्व शरीर में कैंसर कोशिकाओं को पनपने से रोकने में मददगार होते हैं और कैंसर के जोखिम से बचाव करते हैं.

11 .शहतूत वजन को कम करने में भी मददगार होता है. शरीर में मौजूद वसा को कम करने में शहतूत सहायक होता है जो वजन को कम करने में मदद करता है. इसके अलावा एक अध्ययन से पता चला है कि शहतूत में अनियमित भूख को दबाने की शक्ति पाई जाती है. जिसके कारण भी यह वजन को कम करने में मददगार हो सकती है.

12 .जिन लोगों को शरीर में अम्ल, आमवात, जोड़ों का दर्द की समस्या हो उनके लिए भी शहतूत का सेवन करना फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें विटामिन ए, कैल्शियम, फास्फोरस और पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो इन रोगों को नियंत्रित करने में मददगार होता है.

13 .यदि किसी को गर्मी के कारण पेशाब का रंग पीला हो गया है तो शहतूत का शरबत पीना फायदेमंद होता है. क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है साथ ही इसका सेवन पेशाब को साफ करने में मददगार होता है.

14 .गर्मियों में लू से बचने के लिए प्रतिदिन शहतूत का सेवन करना चाहिए. इससे पेट, गुर्दे और पेशाब की जलन भी दूर होती है. आँतों के घाव और लीवर के रोग ठीक होते हैं साथ ही प्रतिदिन सेवन करने से लीवर को मजबूती मिलती है.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है ऐसे तो शहतूत का सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद होता है. लेकिन यदि कोई बीमारी की अवस्था में शहतूत खाना चाहते हैं तो खाने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment