गर्भावस्था में शिमला मिर्च खाने के 7 फायदे

हेल्थ टिप्स- हर महिला गर्भावस्था के दौरान अपने स्वास्थ्य के साथ ही गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए ? इसके बारे में सोचती है और प्रयास करती है कि हम ऐसे चीजों का सेवन करें जिससे ना तो हमारे स्वास्थ्य का नुकसान हो और ना ही बच्चे के स्वास्थ का नुकसान हो. आज हम आपको गर्भावस्था शिमला मिर्च खाने के फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं.

गर्भावस्था में शिमला मिर्च खाने के 7 फायदे
गर्भावस्था में शिमला मिर्च खाने के 7 फायदे

गर्भावस्था के दौरान खाने की चीजों को लेकर गर्भवती महिला के मन कई सवाल उठते रहते हैं क्योंकि कई बार गर्भवती महिला को गर्भावस्था में उन चीजों के सेवन से परहेज करना पड़ता है जो महिला को बहुत पसंद होती है अक्सर गर्भवती महिलाओं को चटपटा चीजें खाने का मन करता है जैसे- जंक फूड, ज्यादा तीखा, खट्टा और मसालेदार खाना, ज्यादा मीठा, ज्यादा नमक वाली आहार खाने की इच्छा होती है. साथ ही कुछ फल व सब्जियां हैं जिनके सेवन से भी गर्भवती महिलाओं को परहेज करना पड़ता है क्योंकि यह सभी चीजें गर्भावस्था के दौरान मां व शिशु दोनों को ही नुकसान पहुंचा सकती है. लेकिन गर्भावस्था के दौरान महिला को हर उस चीज का सेवन करना चाहिए जो महिला व शिशु के लिए लाभदायक होती है.

तो चलिए जानते हैं गर्भावस्था के दौरान शिमला मिर्च का सेवन करना चाहिए या नहीं ? यह गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद है या नहीं ?

गर्भवती महिलाओं को शिमला में खाना चाहिए या नहीं ?

हरी, लाल व पीले रंग की शिमला मिर्च देखने में जितनी अच्छी लगती है उससे ज्यादा कहीं खाने में भी अच्छी लगती है. शिमला मिर्च में कोलिन, विटामिन, सिलिकॉन, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी इत्यादि प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो कि गर्भवती महिला व शिशु दोनों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं. ऐसे में गर्भवती महिला चाहे तो शिमला मिर्च का सेवन कर सकती है.

हालांकि जरूरत से ज्यादा शिमला मिर्च का सेवन गर्भवती महिला को नहीं करना चाहिए. ताकि यदि महिला को शिमला मिर्च खाने से सेहत संबंधित कोई परेशानी हो या कोई एलर्जी आदि समस्याएं हो तो उन्हें शिमला मिर्च खाने से बचना चाहिए.

गर्भवती महिला शिमला मिर्च खाने के फायदे-

1 .एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है शिमला मिर्च-

शिमला मिर्च में एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं जो गर्भवती महिला की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार होती हैं. साथ ही गर्भवती महिला को कैंसर से बचाव करने में भी मदद मिलती है और इसके लिए हरि के साथ लाल व पीली शिमला मिर्च का सेवन गर्भवती महिला को करना चाहिए.

2 .सिलिकॉन से भरपूर है शिमला मिर्च-

शिमला मिर्च में सिलिकॉन की मात्रा मौजूद रहती है जो गर्भवती महिला के नाखूनों व बालों की सुंदरता को गर्भावस्था के दौरान बरकरार रखने में मदद करती है.

3 .गर्भस्त शिशु के लिए लाभदायक है शिमला मिर्च-

शिमला मिर्च कोलिन, विटामिन इत्यादि से भरपूर होने के कारण गर्भवती महिला को सेवन करने से उसके गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मददगार होते हैं.

4 .ह्रदय के लिए लाभदायक है शिमला मिर्च-

शिमला मिर्च का सेवन ह्रदय के लिए फायदेमंद हो सकता है. दरअसल, एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार ऑक्सीडेटिव डैमेज ह्रदय रोग का कारण बन सकता है यह शिमला मिर्च के फायदे देखे जा सकते हैं क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाई जाती है जिससे ऑक्सीडेटिव देने की वजह से होने वाले रोग के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है.

5 .मधुमेह के लिए लाभदायक है शिमला मिर्च-

अक्सर गर्भावस्था में मधुमेह होने की संभावना बढ़ जाती है शिमला मिर्च का सेवन मधुमेह की समस्या को नियंत्रित करने में मददगार हो सकता है. इससे जुड़े एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार इसमें एंटी डायबिटिक गुण पाया जाता है जो ब्लड शुगर को कम करने का काम कर सकता है. इससे मधुमेह की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है.

6 .वजन का नियंत्रण करने में मददगार है शिमला मिर्च-

गर्भावस्था में मोटापा यानी वजन बढ़ना एक आम समस्या है. इस वजन को नियंत्रित रखने में शिमला मिर्च का सेवन मददगार साबित हो सकती है. दरअसल शिमला मिर्च में कैप्साइ सिनोमिड्स नामक तत्व पाया जाता है जो ऊर्जा की खपत को बढ़ाने का काम कर सकता है. साथ ही अत्यधिक भूख को नियंत्रित कर सकता है और इसमें कैलोरी भी नहीं के बराबर होती है इससे बढ़ते वजन की समस्या को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है.

7 .बर्थ डिफेक्ट्स से बचाव करता है शिमला मिर्च-

शिमला मिर्च में फोलिक एसिड की प्रचुर मात्रा पाई जाती है और फोलिक एसिड न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट ( मस्तिष्क और रीढ़ ) से संबंधित जैसे जन्म दोष के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है.

नोट- गर्भावस्था में शिमला मिर्च खाने के फायदों के बारे में आपने जाना. लेकिन इसके कोई साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं. इसलिए गर्भावस्था में शिमला मिर्च खाने से पहले अपने डाइटिशियन या डॉक्टर से सलाह लें धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment