Diabetes- इन चीजों की रोटियों को खाकर भी डायबिटीज को रखा जा सकता है नियंत्रित, जानें और स्वस्थ रहें

हेल्थ डेस्क- सभी लोग गेहूं के आटे से बनी रोटी खाते हैं. लेकिन अगर कोई डायबिटीज से ग्रसित है तो गेहूं के आटे की जगह इन चीजों से बनी रोटियों का सेवन करके डायबिटीज को नियंत्रित रख सकते हैं. यह गेहूं की तुलना में आपके शरीर को स्वस्थ रखने और अलग-अलग तरह की बीमारियों से बचाने में सहायता करती है.

Diabetes- इन चीजों की रोटियों को खाकर भी डायबिटीज को रखा जा सकता है नियंत्रित, जानें और स्वस्थ रहें
Diabetes- इन चीजों की रोटियों को खाकर भी डायबिटीज को रखा जा सकता है नियंत्रित, जानें और स्वस्थ रहें

आज के समय डायबिटीज एक ऐसी बीमारी हो गई है जिससे ज्यादा कर लोग ग्रसित हो रहे हैं. हमारे देश में लगभग 70 मिलियन लोग डायबिटीज से ग्रसित है जो काफी चिंताजनक है. डायबिटीज स्वास्थ्य को काफी प्रभावित करती है. डायबिटीज के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रहा है. डायबिटीज आप तक ना पहुंचे इसलिए आपको अपनी लाइफस्टाइल में थोड़ा बहुत बदलाव करने की जरूरत है. इन बदलाव से आप डायबिटीज की समस्या से राहत पा सकते हैं. अगर आप अपने खानपान का विशेष ध्यान रखेंगे तो आपकी डायबिटीज की समस्या दूर हो सकती है. ऐसे में आज हम आपको गेहूं छोड़कर कुछ ऐसी चीजों की रोटियों के बारे में बताएंगे जिनसे आपको डायबिटीज की समस्या राहत मिलेगी.

चलिए जानते हैं उन चीजों की रोटियों के बारे में-

1 .चने की रोटी-

चने के आटे में घुलनशील फाइबर पाया जाता है जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मददगार होता है. साथ ही शुगर की मात्रा को भी धीमा करता है और ब्लड शुगर लेवल को धीरे-धीरे बढ़ने से रोकता है. अगर आप भी अपनी या अपनों की सेहत का ख्याल रखना चाहते हैं और डायबिटीज से बच कर रहना चाहते हैं तो आम रोटी की जगह चने के आटे की रोटी अपनी डाइट में नियमित शामिल करते रहें.

2 .ज्वार की रोटी-

ज्वार की रोटी हार्मोन और मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है. गेहूं की तुलना में ज्वार आपके शरीर को स्वस्थ रखने और कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होता है. ज्वार में भारी मात्रा में आयरन, मैग्नीशियम, प्रोटीन, कैल्शियम और डाइटरी फाइबर होते हैं जो शरीर को जरूरी पोषण पहुंचाने में मददगार होते हैं.

3 .ओट्स की रोटी-

ज्यादातर लोग वजन को कम करने के लिए ओट्स की रोटी का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन यह डायबिटीज के मरीजों के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है. ओट्स से बनी रोटी खाने से शरीर में ब्लड शुगर लेवल का संतुलन बना रहता है. इसे खाने से डायबिटीज का खतरा कम होता है. आपको बता दें कि ओट्स में पाए जाने वाला बीटा- ग्लूकॉन भी डायबिटीज बढ़ने के खतरे को कम करता है. इतना ही नहीं ओट्स की रोटी दिल से जुड़ी बीमारियों से भी बचाव करती है.

4 .रागी के आटे की रोटी-

रागी में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है. यह डायबिटीज के मरीजों को खाने में गेहूं के आटे की रोटी की जगह रागी के आटे की रोटी अच्छा विकल्प हो सकती है. इसमें पॉलिफिनॉल्स के साथ ही डाइटरी फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है जो आपके ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रखता है. फाइबर भूख को भी नियंत्रित करता है और अधिक खाने से बचाता है. वजन को नियंत्रित करने में रागी के आटे की रोटी काफी मददगार होती है. फाइबर को पचाने में लगने वाला लंबा समय ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित करने का कारण होता है. यही कारण है कि डॉक्टर डायबिटीज के मरीजों को खाने में फाइबर युक्त चीजों को शामिल करने की सलाह देते हैं.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है. किसी बीमारी के इलाज का विकल्प नहीं है अतः यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं तो इनके सेवन से पहले योग्य डाइटिशियन की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

इसे भी पढ़ें-

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment