जानिए- चक्कर आने के कारण, लक्षण और तुरंत राहत पाने के घरेलू उपाय

हेल्थ डेस्क- चक्कर आना बहुत ही आम समस्या है जो महिला- पुरुष किसी को भी आ सकता है. आज हम इस लेख के माध्यम से चक्कर आने के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय के बारे में बात करेंगे.

चक्कर आना कोई बीमारी नहीं है बल्कि हमारे शरीर में जो अनचाहे गतिविधियां होती है या एक्सटर्नल फैक्टर के चलते हैं. हमारे शरीर में जो बदलाव होते हैं उसका एक प्रतिक्रिया होता है.

चक्कर आना एक आम समस्या है इससे कई लोग प्रभावित भी हो चुके होते हैं. इसे अंग्रेजी में Dizziness कहा जाता है. चक्कर आने से हमारा की भारी हो जाता है और कई बार हम बेहोश होकर जमीन पर गिर भी जाते हैं.

जानिए- चक्कर आने के कारण, लक्षण और तुरंत रहत पाने के घरेलू उपाय
जानिए- चक्कर आने के कारण, लक्षण और तुरंत राहत पाने के घरेलू उपाय

क्या होता है चक्कर आना ?

अचानक आंखों के आगे अंधेरा सा जाना या फिर घूमने जैसा एहसास होना, यह किसी के साथ भी हो सकता है. इसके अलावा कभी-कभी थकान और कमजोरी भी महसूस हो सकती है. यह सिर चक्कर आने के लक्षण है हालांकि यह समस्या चिंताजनक नहीं है लेकिन कभी-कभी गंभीर रूप भी ले सकती है.

चक्कर आने के प्रकार-

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार चक्कर आने के चार प्रकार हो सकते हैं ?

1 .वर्टिगो- इसमें सिर चकराने लगता है और ऐसा महसूस होता है कि आसपास की चीजें घूम रही है. इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति को उल्टी और चक्कर आना आम हो जाता है.

2 .डिसइक्विलिब्रियम- इसमें शरीर का संतुलन बनाने में समस्या होती है. इससे पीड़ित कुछ लोगों को पैरों में समस्या भी महसूस हो सकती है जबकि कुछ लोगों को सिर का चक्कर महसूस हो सकता है.

3 .प्रिंसीकॉप- ऐसी स्थिति में व्यक्ति को लगता है कि वह बेहोश हो जाएगा. लेकिन वह बेहोश नहीं होता है जब व्यक्ति बैठने या लेटने का प्रयास करता है तो कुछ राहत महसूस कर सकता है.

4 .लाइटहेडेडनेस- इस स्थिति में सिर के अंदर झनझनाहट महसूस हो सकती है. इस अवस्था में कभी-कभी व्यक्ति को यह महसूस हो सकता है कि उसका सिर उसके शरीर के साथ नहीं जुड़ा हुआ है.

चक्कर आने के क्या कारण हो सकते हैं ?

1 .कई लोगों को अचानक से बैठने- उठने पर चक्कर आने की स्थिति महसूस करते हैं. चक्कर आने का एक कारण यह भी हो सकता है.

2 .माइग्रेन की स्थिति में सिर में तेज दर्द होता है. इसके कारण भी चक्कर आने की स्थिति उत्पन्न हो सकती है.

3 .कान के अंदर किसी तरह की समस्या होने पर या फिर किसी दवाई की प्रक्रिया के कारण भी चक्कर आ सकता है.

4 .अचानक रक्तचाप कम होने के कारण भी चक्कर आ सकता है.

5 .शरीर में पानी की कमी होने पर भी चक्कर आ सकता है.

6 .मोर्निंग सिकनेस के कारण भी चक्कर आ सकते हैं. यह एक ऐसी दशा है जो कुछ लोगों में बस या कार में यात्रा करने के दौरान होती है.

7 .बढ़ती उम्र के साथ लोगों को कई तरह की समस्याएं हो सकती है. जिसके कारण उन्हें ज्यादा दवाओं का सेवन पड़ सकता है जो चक्कर आने का कारण बन सकती है.

8 .यदि आप धूम्रपान या अल्कोहल का सेवन अधिक करते हैं तो इससे भी चक्कर आ सकते हैं.

9 .कान में लगातार दर्द होने के कारण भी चक्कर आना स्वाभाविक है.

10 .पौष्टिक तत्व की कमी होने के कारण भी शरीर कमजोर हो सकता है और इस कमजोरी के कारण आपको चक्कर की समस्या हो सकती है.

11 .शरीर में खून की कमी होना.

12 .महिलाओं में गर्भावस्था के कारण.

चक्कर आने के लक्षण क्या है ?

आमतौर पर चक्कर आने के कारण व्यक्ति को आसपास की चीजें घूमती हुई और धुंधली नजर आ सकती है. साथ ही शरीर का संतुलन बनाना मुश्किल हो जाता है. चक्कर आने के निम्न लक्षण हैं.

एक ही वस्तु का कई वस्तु दिखलाई देना.

सिर का घूमना.

बोलने में कठिनाई होना या फिर स्पष्ट आवाज न निकलना.

शरीर के अंगों में कमजोरी महसूस होना.

शरीर में सनसनी जैसा महसूस होना.

शरीर के किसी भी गतिविधि में संतुलन बनाने में दिक्कत होना.

आंखों की असामान्य गतिविधियां होना जैसे- आंखों का फड़कना, चलते समय स्पष्ट रूप से देखने में समस्या होना.

इसके अलावा चलने में असुविधा, किसी भी चीज को पास आते या दूर जाते हुए महसूस करना, बेहोश होने जैसा महसूस होना, सिरदर्द, इसके अन्य लक्षण शामिल है. साथ ही मतली या उल्टी आने जैसा महसूस होना, कान के अंदर बिना किसी शोर के आवाज का सुनाई देना जिसे टिन्नीटस कहते हैं. सुनने में कठिनाई महसूस होना और अचानक से झटका जैसा महसूस होना चक्कर आने के लक्षणों में शामिल है.

चक्कर से छुटकारा पाने का घरेलू उपाय क्या है ?

1 .पानी पीना-

रिसर्च में ऐसा पाया गया है कि शरीर में पानी की कमी होने के कारण आपको चक्कर आ सकते हैं. इसी कारण आपको शरीर में पानी की मात्रा हमेशा बैलेंस बनाकर रखनी चाहिए. इसलिए दिन भर में कम से कम 4 से 5 लीटर पानी अवश्य पीना चाहिए.

2 .सेब का सिरका-

चक्कर आने का कारण रक्तचाप का कम होना भी हो सकता है. सेब का सिरका रक्तचाप को सामान्य करने में कारगर साबित हुआ है. रक्तचाप कम होने पर यदि आप एक गिलास पानी सेब के सिरके को मिलाते हैं और इसका सेवन करते हैं तो आपको चक्कर से निजात मिल सकती है.

3 .अदरक की चाय-

कई बार शारीरिक कमजोरी के कारण चक्कर आने की समस्या होती है या फिर रक्तचाप सामान्य ना होने के कारण दिमाग की नसों में खून की कमी हो सकती है. इससे आपको चक्कर आ सकते हैं. यदि आप ऐसे समय में अदरक से बनी चाय का सेवन करते हैं तो इससे आपका रक्तचाप सामान्य हो सकता है और चक्कर से तुरंत राहत पा सकते हैं.

4 .नींबू पानी-

यदि आपको बार- बार चक्कर आते हैं तो आपको नींबू पानी पीना काफी लाभदायक होगा. नींबू पानी पीने से आपके शरीर में पानी का तत्व भरता है और साथ ही नींबू पानी में एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो शरीर की थकान को निकालते हैं और नींबू पानी में डाली गई चीनी रक्तचाप को सामान्य करती है. इसी के साथ नींबू पानी आपके शरीर को हाइड्रेट रखने में मददगार होता है इसलिए चक्कर जैसी बीमारी से निजात पाने के लिए आपको नींबू पानी का सेवन करना चाहिए.

5 .मीठा खाना-

यदि आपको बार- बार चक्कर आते हैं तो आपको अपने पास गुड़ या चॉकलेट जैसी मीठी चीजों को रखनी चाहिए. शरीर कमजोर पड़ने पर अक्सर हमें चक्कर आ सकते हैं और ऐसे समय में कुछ मीठा खा लेते हैं तो आपके शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है और आपके शरीर में थकान दूर होती है जिससे चक्कर के राहत मिलता है.

6 .बादाम खाना-

पौष्टिक तत्वों से भरपूर बादाम को बेहतरीन ड्राई फ्रूट्स माना जाता है. बादाम का सेवन चक्कर आने के घरेलू उपाय में शामिल हो सकता है क्योंकि बादाम में विटामिन बी6 की मात्रा पाई जाती है वहीं विटामिन बी6 का सेवन करने से सिर में चक्कर आने जैसी समस्या को रोका जा सकता है.

7 .प्रतिदिन करें व्यायाम-

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिए. व्यायाम करने से आपके शरीर में उर्जा आती है और शरीर की सुस्ती दूर होती है जिसके कारण रक्तचाप सामान्य बनी रहती है इस तरह भी आप चक्कर की समस्या को दूर कर सकते हैं.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है किसी बीमारी के इलाज का विकल्प नहीं है अतः चक्कर आने पर डॉक्टरी सलाह लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment