तेजी से घटने लगेगी पेट की चर्बी, अगर अपनाएंगे ये कारगर उपाय

हेल्थ डेस्क- आजकल के बदलते लाइफ स्टाइल में पेट की चर्बी बढ़ना आम बात हो गई है. इससे काफी लोग परेशान हैं और होना भी चाहिए. क्योंकि बढ़ा हुआ पेट आपको सेहत संबंधी कई परेशानियों को जन्म दे सकता है. साथ ही आपके फिगर को भी खराब कर देता है. पेट के आसपास के हिस्से में जमा चर्बी को बैली फैट कहा जाता है.

तेजी से घटने लगेगी पेट की चर्बी, अगर अपनाएंगे ये कारगर उपाय
तेजी से घटने लगेगी पेट की चर्बी, अगर अपनाएंगे ये कारगर उपाय

पेट पर चर्बी जमा होने के क्या कारण है ? What is the reason for the accumulation of fat on the stomach ?

पेट पर थोड़ी बहुत चर्बी होना कोई बड़ी बात नहीं है. लेकिन अगर यह चर्बी जरूरत से ज्यादा हो जाती है तो कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है. यहां हम पेट पर अतिरिक्त चर्बी के कुछ मुख्य कारणों के बारे में बताएंगे.

1 .अनुवांशिक कारण- वैज्ञानिक शोध के अनुसार शरीर में चर्बी आनुवांशिक तौर पर विकसित होते हैं. अगर आपके माता पिता या दादा-दादी या नाना-नानी को यह समस्या हो तो आपको होने की संभावना अधिक हो जाती है.

2 .खराब गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल प्रक्रिया- उम्र बढ़ने के साथ-साथ पाचन तंत्र भी कमजोर होने लगता है जिसके कारण गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम भी प्रभावित होने लगता है इस कारण से भी पेट की चर्बी बढ़ सकती है.

3 .हार्मोन में बदलाव- आमतौर पर हार्मोन बदलाव का सामना ज्यादातर महिलाओं को करना पड़ता है. जब वह अपनी जीवन के मध्य पड़ाव लगभग 40 वर्ष के आसपास में पहुंचती है तो शरीर के वजन के मुकाबले चर्बी तेजी बढ़ सकती है. फिर मेनोपॉज यानी रजोनिवृत्ति के दौरान एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम और एंड्रोजन हार्मोन का स्तर अधिक हो जाता है जिसके कारण कमर के आसपास की चर्बी बढ़ने लगती है.

4 .तनाव- तनाव कई बीमारियों का कारण माना जाता है. शरीर में चर्बी बढ़ना भी तनाव के कारण हो सकता है. क्योंकि तनाव के कारण रक्त में कोर्टिसोल हार्मोन का स्तर अधिक हो जाता है और कोर्टिसोल वसा का स्तर बढ़ा सकता है जिससे वसा कोशिकाएं बड़ी हो सकती है और आमतौर पर इस स्थिति में चर्बी पेट के आसपास ही बढ़ती है.

5 .बीमारियां- कुछ बीमारियां ऐसी होती है जिसकी चपेट में आने से वजन बढ़ने लगता है. इसके अलावा किडनी संबंधी समस्या, थायराइड और हार्ट से जुड़ी बीमारियां से भी मोटापा बढ़ सकता है.

6 .मांस पेशियों में ढीलापन आना- जब पेट के आसपास की मांसपेशियों में ढीलापन आने लगती है तो हो सकता है कि उस जगह की चर्बी बढ़ना शुरू हो जाए. हालांकि इस पर कोई शोध उपलब्ध नहीं है.

7 .बैठकर काम करना- अधिक देर तक बैठकर काम करना भी पेट के आसपास चर्बी जमा होने के कारण हो सकता है चाहे फिर ऑफिस में हो या फिर घर में.

8 .कम प्रोटीन और ज्यादा कार्ब्स- हम दिन भर में क्या कुछ नहीं खाते कभी काम के दबाव या फिर तनाव में जरूरत से ज्यादा ही खा लेते हैं और पोषक तत्वों पर भी ध्यान नहीं देते हैं. शरीर में स्वाद के चक्कर में प्रोटीन कम और कार्ब्स अधिक हो जाता है. एक ही जगह बैठकर काम करते रहना इस तरह कमर व पीठ के आसपास की चर्बी बढ़ने लगती है. इसी वजह से हाई प्रोटीन और लो कार्ब्स डायट वजन कम करने में लाभदायक माना जाता है.

पेट की चर्बी कम करने के उपाय- Remedies to reduce belly fat-

1 .नियमित मॉर्निंग वॉक- सुबह-सुबह पैदल चलना, जोगिंग करना या फिर पेट संबंधी कोई एक्सरसाइज करना पेट की चर्बी को कम करने का सबसे अच्छा उपाय है. इससे धीरे-धीरे चर्बी भी कम होगा और आपका पाचन तंत्र भी बेहतर तरीके से काम करेगा. साथ ही शरीर में दिनभर ऊर्जा का स्तर भी बना रहेगा.

2 .गरम पानी- सुबह- सुबह खाली पेट गर्म पानी पीना पेट को कम करने के लिए काफी लाभदायक होता है. इससे पेट में जमा वसा धीरे-धीरे कम होगा. इसके अलावा अगर आप गर्म पानी में नींबू और शहद मिलाकर पीते हैं तो और अधिक फायदेमंद साबित होगा, इतना ही नहीं इसे प्रतिदिन पीने से आप खुद को तरोताजा और ऊर्जावान भी महसूस करेंगे.

3 .थोड़ा-थोड़ा खाना- अगर आप एक ही बार में अधिक भोजन करने में विश्वास रखते हैं और आपको इसकी आदत है तो यह आदत आपको बदल देना चाहिए. अपनी डाइट दो या तीन भागों में बांट लें और हर दो-तीन घंटे में थोड़ा- थोड़ा खाएं. इससे आपका पेट भरा रहेगा और ऊर्जा का असर भी बना रहेगा और पेट का मोटापा कम होने लगेगा.

4 .नौकासन- योगा आपके शरीर के साथ-साथ मानसिक परेशानियों को भी कम करने में मददगार होता है. बढे हुए पेट को कम करने के लिए नौकासन योग करना सबसे बेहतर विकल्प है. इससे पेट की चर्बी कम होगी. आप खुद इस बदलाव को देख और महसूस कर सकेंगे.

5 .देर रात ना खाना- देर रात को खाना खाना भी पेट की चर्बी बढ़ने का एक कारण है. हमेशा सोने से 2 घंटा पहले ही रात का भोजन कर लें. इसके अलावा आप चाहे तो रात को खाने में कुछ हल्का-फुल्का ही खाएं. अगर खाना खाने के बाद थोड़ा टहलने के लिए निकल जाते हैं तो यह सोने पर सुहागा साबित होगा.

6 .सीढ़ियां चढ़ना- उतरना- बेली फैट को कम करने के उपाय में सीढियां चढ़ना और उतरना भी शामिल है यह पेट कम करने के लिए बेहतर व्यायाम हो सकता है. जी हां सीढियां चढ़ने और उतरने से भी बेली फैट को कम किया जा सकता है. इसके लिए प्रतिदिन सुबह-शाम करीब 10 मिनट घर की सीढ़ियों पर चढ़े और ऑफिस में अगर लिफ्ट की व्यवस्था है तो आप उस का सहारा ना लें बल्कि चिड़ियों का सहारा लें. आपको पेट और कमर की चर्बी को कम करने में काफी मदद मिल सकती है.

पेट की चर्बी कम करने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं ?

खानपान को संतुलित ना रखा जाए फिर कोई भी एक्सरसाइज या योग कर लिया जाए बेली फैट नहीं घट सकती है इसलिए आपको खानपान का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए.

1 .सूप- यदि आप पेट की चर्बी कम करना चाहते हैं तो अपने आहार में सूप को नियमित शामिल कर सकते हैं. खासकर रात के समय इसका सेवन करने से वजन कम करने में काफी मदद मिल सकती है. यह लाइट होता है और इसमें अधिक कैलोरी नहीं होती है जिस वजह से चर्बी को नहीं बढ़ने दे सकता है.

2 .फल- पेट की चर्बी कम करने के उपाय में फल का सेवन भी शामिल है. फल शरीर को जरूरी पोषक तत्व देने के साथ ही वजन को नियंत्रित रखने में भी मददगार होता है. माना जाता है कि फलों में मौजूद फाइबर वसा को कम कर सकता है. इसलिए आपको अपनी नियमित खानपान में फल को जरूर शामिल करना चाहिए.

3 .सब्जियां- पेट की चर्बी को कम करने के लिए दैनिक आहार में सब्जियों को भी जगह देने चाहिए. जी हां यह सब्जियां शरीर को स्वस्थ रखने और चर्बी को कम करने में मदद कर सकती है क्योंकि सब्जियों में कैलोरी की मात्रा कम होती है.

4 .साबुत अनाज- आहार में साबुत अनाज शामिल कर फैट को काफी हद तक नियंत्रित रखा जा सकता है. साबुत अनाज फाइबर से भरपूर होते हैं जो अतिरिक्त चर्बी को कम करने में लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं.

5 .नट्स- बादाम, काजू और अखरोट जैसे नट्स भी वजन को कम करने में मददगार हो सकते हैं. कहा जाता है कि लंबे समय तक सीमित मात्रा में नट्स का सेवन करने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है और बार-बार खाने की इच्छा नियंत्रित हो सकती है जिससे मोटापे को कम करने में मदद मिलती है.

6 .बींस- पेट को कम करने के घरेलू उपाय में आप बिन्स को भी शामिल कर सकते हैं. चाहे हरी बींस हो या दाल वाली बिन्स दोनों ही वजन को कम करने में मदद कर सकती है क्योंकि यह फाइबर का अच्छा स्रोत होता है और फाइबर बार-बार लगने वाली भूख को कम करने और अधिक खाने की इच्छा को नियंत्रित करके वजन कम करने में मदद कर सकता है.

7 .फैट फ्री मिल्क और अन्य डेयरी उत्पाद- दूध पीने के शौकीन है तो फैट फ्री मिल्क का सेवन करना भी पेट को कम करने के घरेलू उपायों में से एक है. एक रिसर्च में बताया गया है कि फैट फ्री दूध और अन्य उत्पाद भी बैली फैट को कम करने में मददगार होते हैं.

8 .घुलनशील फाइबर- बेली फैट घटाने के उपाय में घुलनशील फाइबर भी अच्छा तरीका है. इसके सेवन से भूख कम लगती है जिससे बार-बार खाने की इच्छा नियंत्रित रहती है. इस प्रकार बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है.

9 .हाई प्रोटीन आहार- बेली फैट कम करने के लिए हाई प्रोटीन आहार काफी मददगार होता है. प्रोटीन खाद पदार्थ का सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती है. प्रोटीन रिच फूड में ओट्स, चिया बीज, मसूर की दाल, एवोकाडो, सोया आदि शामिल है. इसलिए पेट अंदर करने के घरेलू उपाय में इन्हें भी शामिल किया जा सकता है.

इनसे रखें परहेज-

पेट को कम करने के लिए क्या खाना चाहिए यह जानने के साथ ही किस चीज से परहेज रखना चाहिए यह भी जरूरी है.

1 .शक्कर युक्त और दीबा बंद खाद पदार्थ से परहेज रखें.

2 .स्टार्च युक्त खाद्य पदार्थ जैसे- चावल, नूडल्स, पास्ता और ब्रेड से परहेज करें. इनकी जगह ब्राउन राइस और ब्राउन ब्रेड को शामिल करें.

3 .तंबाकू, शराब और सिगरेट से दूरी बना लें.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है अधिक जानकारी के लिए योग्य चिकित्सक की सलाह लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment