महिलाओं में कामेच्छा कम होने के क्या कारण है ? जाने बढ़ाने के घरेलू उपाय

हेल्थ डेस्क- हर इंसान के लिए जिस तरह खाना-पीना और पौष्टिक चीजों की आवश्यकता होती है उसी तरह उम्र के अनुसार संभोग ( sex ) करना भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है. कहा जाता है संभोग दो दिलों को जोड़कर रखने का एक अच्छा साधन है. संभोग पति- पत्नी के बीच प्यार को बढ़ाने का काम करता है, लेकिन कई महिलाओं में संभोग के प्रति उदासीनता हो जाती है और वे संभोग से दूरी बनाने का हर संभव प्रयास करने लगती है. इसकी वजह उनकी उम्र के साथ-साथ कुछ शारीरिक समस्याएं भी हो सकती हैं.

महिलाओं में कामेच्छा कम होने के क्या कारण है  जाने बढ़ाने के घरेलू उपाय
महिलाओं में कामेच्छा कम होने के क्या कारण है जाने बढ़ाने के घरेलू उपाय

महिलाओं में कामेच्छा कम होने के क्या कारण है ?

महिलाओं में कामेच्छा कम होने की निम्न कारण हो सकते हैं जैसे-

1 .महिलाएं आपसी संबंधों में आई खटास के कारण भी संभोग के प्रति उदासीन हो सकती है. इसके कारणों में पार्टनर की सेक्स समस्या, उससे भावनात्मक संतुष्टि का नहीं मिलना, बच्चे का जन्म आदि के कारण भी हो सकते हैं.

2 .नौकरी का तनाव, साथियों का दबाव और सेक्सुअलिटी पर मीडिया इमेज की वजह से भी संभोग करने के प्रति नकारात्मकता आ सकती है.

3 .टेस्टोरॉन का स्तर गिरने से भी महिलाओं में संभोग के प्रति अनिच्छा पैदा हो जाती है. किसी भी महिला में 20 वर्ष की उम्र में टेस्टोरॉन और अधिक रहता है और उसके बाद धीरे-धीरे बढ़ती उम्र के साथ कम होता चला जाता है. जो मेनोपॉज होने तक यह इच्छा थोड़ी बहुत बनी रहती है.

4 .महिलाओं में संभोग के प्रति अनिच्छा की वजह मेडिकल समस्याएं हो सकती है मानसिक बीमारी जैसे- डिप्रेशन, तनाव या दबाव की स्थिति में भी संभोग इच्छा धीरे-धीरे कम होने लगती है. साथ ही फाइब्रॉएड और थायराइड जैसी बीमारियों में भी संभोग के प्रति इच्छा कम होने लगती है और मानसिक एवं शारीरिक तौर पर भी घटने लगती है.

5 .संभोग के दौरान गुप्त अंगो में दर्द होना भी संभोग के प्रति अनिच्छा का कारण बन सकता है. कई बार बच्चेदानी में सूजन, ट्यूमर या योनि का सूखापन आदि दर्द का कारण बनते हैं. जिसकी वजह से संभोग के प्रति महिलाओं में अनिच्छा होने लगती है.

महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू उपाय-

1 .महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के लिए ऊपर बताए गए कारणों का पता लगाकर उसका सही उपाय करना संभोग के प्रति बढ़ावा देने का बेहतर उपाय में से एक साबित हो सकता है इसलिए आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए.

2 .लहसुन में एलीसिन नामक एक कंपाउंड पाया जाता है जो शरीर में रक्त संचार को बढ़ाता है. संभोग से संबंधित गुप्तांगों में यह रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देता है. जिसके कारण कामेच्छा में बढ़ोतरी होती है. इसके लिए दो-तीन लहसुन की कली चबाकर खाएं और मुंह भली प्रकार से साफ करके डार्क चॉकलेट का सेवन करें. इसमें ऐसा केमिकल होता है जो महिलाओं में पुरुषों के प्रति खिंचाव बढ़ाता है इसलिए महिलाएं शारीरिक संबंध के दौरान डार्क चॉकलेट खाना पसंद करती हैं.

3 .कुछ चिकित्सकों का कहना है कि मीनोपॉज यानी रजोनिवृत्ति के बाद हार्मोन संतुलन बिगड़ जाने से महिलाओं में संभोग के प्रति इच्छा कम होने लगती है और पुरुष के प्रति आकर्षण में गिरावट आ जाती है.

4 .महिलाओं में लगातार सेक्सुअल अराउजल के बाद भी ओर्गेज्म के ना आने को ऑर्गैस्मिक डिसऑर्डर कहा जाता है. ऑर्गेज्म तक पहुंचने में जो समय लगता है उसे क्लाइमेक्स कहा जाता है. कुछ महिलाएं कभी भी क्लाइमेक्स तक नहीं पहुंच पाती है जबकि कुछ महिलाएं ऐसी होती है जो सिर्फ हस्तमैथुन से ही क्लाइमेक्स तक पहुंच पाती है. कुछ महिलाओं में भग्नासा और योनि को सहला कर उत्तेजित करने की जरूरत पड़ सकती है. ऐसा करने से महिलाएं अपने पार्टनर के साथ क्लाइमेक्स तक पहुंच जाती हैं.

5 .बहुत ही महिलाओं में मेनोपॉज के पहले कामेच्छा का स्तर बहुत नीचे गिर जाता है. दूसरी ओर पुरुष का सेक्स ड्राइव बना रहता है. पुरुषों का यौन सक्रियता काल महिलाओं की अपेक्षा ज्यादा लंबा होता है जो लोग ज्यादा सेक्स में सक्रिय रहते हैं उनके अधिक स्वस्थ रहने की उम्मीद ज्यादा रहती है.

6 .पुरुषों में अच्छे स्वास्थ्य का संबंध उनकी यौन सक्रियता से जुड़ा रहता है. स्वस्थ यौन शक्ति पुरुषों और महिलाओं में एक समान नहीं होता है. अगर एक पुरुष 55 साल की उम्र तक पूरी तरह से स्वस्थ है और यौन सक्रियता उसमें कायम है तो उसके जीवन में यौन सक्रियता 5 साल उम्र के साथ-साथ और बढ़ जाया करती है.

7 .चिकित्सा विज्ञान का सबसे ज्यादा ध्यान पुरुषों की सेक्स ड्राइव को बढ़ाने वाली दवाओं की खोज में लगा हुआ है. महिलाओं में सेक्स के प्रति अनिच्छा दूर करने वाली दवाओं की खोज भी अहम विषय है. यह समझ लेना जरूरी है कि महिला हो या पुरुष सेक्स में संतुष्टि का स्तर सबका अलग- अलग होता है.

8 .महिलाओं में सेक्स के प्रति इच्छा को बढ़ावा देने के लिए कुदरती पदार्थों और भोजन का विशेष महत्व है इसलिए महिलाओं को खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

9 .अंडों में विटामिन बी पाया जाता है और यह तनाव को दूर करता है और हार्मोन को संतुलन में रखने का काम करता है. इसके सेवन से फर्टिलिटी भी बढ़ती है इसलिए नियमित अंडों का सेवन करना कामेच्छा बढ़ाने में मददगार होता है.

10 .आम ऊर्जा देने वाला एक बेहतर फल है. गर्मी के मौसम इसका नियमित सेवन से ऊर्जा का संचार होता है. संभोग में आई कमी को पूरा करने में मदद मिलती है जिससे उनका परफॉर्मेंस क्लाइमेक्स तक हो सकता है. आम पुरुषों के लिए भी लाभदायक होता है इसलिए महिला व पुरुषों को नियमित रूप से आम का सेवन करना चाहिए.

11 .विटामिन B12 मेवे और अनाजों में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. विटामिन B2 मुख्यतः केला, ब्रोकली और मांस में पाया जाता है. विटामिन B3 रक्त संचार बढ़ाने के लिए सेक्स हारमोंस की उत्पत्ति में मददगार होता है इसलिए इन चीजों का महिलाओं को नियमित सेवन करना चाहिए. इससे कामेच्छा में आई कमी को दूर करने में मदद मिलती है.

12 .विटामिन ई सेक्स हार्मोन पैदा करने वाले परिसंचरण तंत्र को मजबूत बनाने वाले होते हैं. यह विटामिन अनाजों, फलों और हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इसलिए फलों और हरी सब्जियों को आहार में नियमित शामिल कर कामेच्छा में आई कमी से राहत पाई जा सकती है.

13 .वियाग्रा की गोली महिलाओं में भी सेक्स शक्ति बढ़ाने के लिए इस्तेमाल की जा सकती है. लेकिन यह प्रभाव कुछ ही महिलाओं पर पड़ता है. इसे संभोग करने से 1 घंटे पहले सेवन करना चाहिए.

14 .महिलाओं में कामेच्छा में आई कमी को दूर करने के लिए सतावर का प्रयोग करना अच्छा परिणाम देता है. सफेद मूसली महिलाओं की सेक्स ड्राइव को बढ़ाने में काफी मददगार औषधि है. इसलिए चिकित्सक की देखरेख में इनका सेवन करना लाभदायक हो सकता है.

15 .कामोद्दीपक तत्व भोजन के माध्यम से प्राप्त करना सबसे बेहतर उपाय है. इन तत्वों से महिलाओं के स्तर एस्टेरोन, एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का लेवल संतुलित बनाने में मदद मिलती है. यह हार्मोन महिलाओं में लीबीदो यानी कामेच्छा को बरकरार रखने के लिए उत्तरदाई होता है. जैसे केला, स्ट्रॉबेरी, आम इन फलों का नियमित सेवन करने से महिला में कामेच्छा में बढ़ोतरी करने में मदद मिलती है.

16 .भोजन में गाजर, अदरक, लहसुन और अन्य हरी पत्तेदार सब्जियों को नियमित शामिल करने की उचित पोषक तत्व प्राप्त होते हैं जो कामेच्छा को बढ़ाने में मददगार होते हैं.

17 .सूखे मेवे जैसे बादाम, मूंगफली, छुहारा आदि में कामोद्दीपक गुण पाया जाता है इसका सेवन करना भी फायदेमंद होगा.

18 .सोयाबीन, अजवाइन, अंडा, मक्खन और मशरूम का सेवन कामेच्छा में बढ़ोतरी करने में मददगार होता है.

19 .ओमेगा 3 फैटी एसिड का काम इच्छा जागृत करने में मददगार होता है यह मछलियों में अधिक पाया जाता है शाकाहारी में 15 ग्राम अलसी का तेल प्रतिदिन सेवन करने से कामेच्छा में बढ़ोतरी होती है.

20 .कामेच्छा में कमी का कारण यह भी हो सकता है कि उनकी जीवनशैली और खानपान खराब हो. भोजन में मामूली बदलाव करके भी भरपूर संभोग का आनंद लेने में कामयाब हो सकेंगे. संतुष्टि प्रद सेक्स ड्राइव के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात शरीर में आदर्श रक्त संचार का होना है इसलिए इन बातों का ध्यान देकर महिलाओं को स्वस्थ रहना सेक्स के प्रति अनिच्छा को दूर करने में अहम भूमिका निभाता है.

21 .मासिक धर्म से जुड़ी समस्या महिलाओं में कामेच्छा कम होने के कारण होता है. इसलिए महिलाओं को अपने मासिक धर्म से जुड़ी समस्याओं को दूर करने का उपाय करना चाहिए.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है अधिक जानकारी और किसी भी प्रयोग से पहले योग्य चिकित्सक की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment