कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

हेल्थ डेस्क- एलोवेरा एक छोटा सा पौधा होता है जिसमें मोटे और गुद्देदार पत्ते होते हैं. यह पत्ते पतले एवं नुकीले होते हैं और इसके अंदर पाया जाने वाला गुद्दे अथवा जेल का ही महत्व होता है. एलोवेरा के तीन- चार सौ प्रजातियां होती है. लेकिन इसमें सिर्फ 10 प्रजातियां हैं जो इस्तेमाल करने लायक होती है. एलोवेरा का इस्तेमाल कई तरह के रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है. साथ ही इसका इस्तेमाल त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए भी सदियों से किया जाता रहा है. आज हम इस लेख के माध्यम से एलोवेरा में पाए जाने वाले तत्व, एलोवेरा के फायदे और इस्तेमाल करने के तरीकों के बारे में जानेंगे.

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

एलोवेरा में कौन- कौन से तत्व पाए जाते हैं ?

एलोवेरा में कैल्शियम, कॉपर, क्रोमियम, सोडियम, सेलेनियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, मैग्नीज, जिंक, विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन B12, फोलिक एसिड इत्यादि तत्व मौजूद होते हैं. इसके साथ ही एलोवेरा में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण भी मौजूद होती हैं. इसके अलावा इसमें हाइड्रेटिंग गुण मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद होती हैं.

एलोवेरा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण जहां शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए अच्छा होता है वहीं इसका हाइड्रेटिंग गुण त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है.

एलोवेरा के फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके-

1 .आंखों के लिए-

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

एलोवेरा में विटामिन ए मौजूद होता है और विटामिन ए आंखों के लिए काफी फायदेमंद होता है. यदि आप प्रतिदिन खाली पेट एलोवेरा जूस का सेवन करते हैं तो यह आपकी आंखों की रोशनी बढ़ाने में आपकी मदद करता है. यदि आपको आंखों से संबंधित कोई समस्या है जैसे कि कोई संक्रमण या किंची आना तो इन समस्याओं को भी एलोवेरा दूर करता है.

2 .शरीर के वजन के लिए-

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

एलोवेरा में फाइबर और विटामिन सी मौजूद होता है जो आपके मेटाबोलिज्म को दुरुस्त करता है. जिसके कारण आपका असली वजन आपके सामने आने लगता है. एलोवेरा जेल का नियमित सेवन करने से आपको आपका सही आकार मिलने में मदद मिलती है. अगर आप मोटे होंगे तो पतले होने लगेंगे और यदि आप पतले होंगे तो यह आपके वजन को बढ़ाने में आपकी मदद करेगा.

3 .पाचन तंत्र के लिए-

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

एलोवेरा पाचन तंत्र को दुरुस्त करने के लिए दुनिया का सबसे अच्छा आयुर्वेदिक औषधियों में से एक माना जाता है. यदि आपके पाचन तंत्र में किसी प्रकार की समस्या है तो आप उसे ठीक करने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल कर सकते हैं. यदि आप एलोवेरा जूस का प्रतिदिन सुबह खाली पेट सेवन करते हैं तो यह आपके कमजोर पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है. इसके सेवन से कब्ज, एसिडिटी, पेट फूलना, पेट दर्द, पेट में गैस व पेट में कृमि जैसी कई समस्याओं को दूर करने में आपकी मदद करता है.

4 .मधुमेह के लिए-

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

एलोवेरा मधुमेह के मरीजों के लिए काफी लाभदायक होता है. इसमें anti-diabetic गुण मौजूद होता है जिसके कारण एलोवेरा खून में मौजूद शुगर लेवल नियंत्रित करता है. वही ग्लूकोज के लेबल को बढ़ाता है. एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि यह आपके पेनक्रिएटिक ग्लैंड को भी सक्रिय करने में मदद कर सकता है. जिसके कारण इंसुलिन फिर से बनने में मदद मिल सकती है और आपका शुगर लेवल सही रह सकता है.

5 .ह्रदय के लिए-

कोलेस्ट्रोल और दिल का नाता हमेशा से रहा है. यदि आप के खून में बुरे कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ जाएगी तो यह दिल के लिए नुकसानदायक होता है. एलोवेरा अपने हाइपो कोलेस्ट्रोलुमिक इफेक्ट के कारण कोलेस्ट्रोल की मात्रा को नियंत्रित रखने में मदद करता है. जिसके कारण आपको दिल से संबंधित बीमारियां कम होती है और हार्ट अटैक खतरा काफी कम हो जाता है.

6 .जोड़ों के दर्द के लिए-

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

जिन्हें जोड़ों के दर्द या गठिया की समस्या है उन लोगों के लिए भी एलोवेरा जेल बहुत ही लाभकारी है. इसमें मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाता है और हड्डियों को रिपेयर करता है. वही एलोवेरा में मौजूद एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण आपको आपके गठिया और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद करता है. इसके लिए प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक से दो चम्मच एलोवेरा जेल का सेवन करना चाहिए.

7 .पेट का अल्सर-

पेट के लिए एलोवेरा काफी लाभदायक होता है. अल्सर एक प्रकार का पेट का अंदरूनी जख्म होता है जो गलत खानपान की आदतों के कारण हो जाता है. पेट का अल्सर कैंसर का शुरुआती लक्षण भी माना जाता है. इसलिए भी इस पर ध्यान देना बहुत जरूरी हो जाता है. यदि आप एलोवेरा के जूस का सेवन प्रतिदिन नियमित करते हैं तो आपके पेट के अल्सर को ठीक होने में काफी मदद मिलती है. हालांकि ऐसा नहीं है कि एलोवेरा का जूस पिएंगे तो आपके पेट का अल्सर पूरी तरह से ठीक हो जाएगा, लेकिन एलोवेरा के सेवन से आपके पेट के अल्सर ठीक करने में मदद जरूर मिलेगी.

8 .मुंह के लिए-

एलोवेरा मुंह और दांतों के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है. यदि आप एलोवेरा के जेल से अपने दांतों और मसूड़ों की सफाई एवं मसाज करते हैं तो इससे आपके दांत और मसूड़े मजबूत एवं स्वस्थ बनते हैं. वहीं यदि आप एलोवेरा जूस से अपने मुंह का कुल्ला करते हैं तो मुंह में मौजूद संक्रमण भी खत्म हो जाता है.

9 .बढ़ाता है रोग प्रतिरोधक क्षमता-

रोग प्रतिरोधक क्षमता एक बहुत बड़ा फैक्टर होता है जो हमारे शरीर को बीमारियों से दूर रखने में अहम भूमिका निभाता है. रोग प्रतिरोधक क्षमता एक प्रकार का शारीरिक कवच है जो प्रकृति ने इंसान को प्रदान किए हैं. अगर आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहेगी तो बड़ी- बड़ी बीमारियां भी आपको छू भी नहीं पाएगी. लेकिन हमारी कुछ गलत आदतों की वजह से जैसे कि समय पर ना खाना, स्वस्थ खाना ना खाना, ज्यादा जंक फूड का सेवन करना, समय पर ना सोना, एक्सरसाइज नहीं करना इत्यादि के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है. लेकिन यदि आप नियमित एलोवेरा जूस का सेवन करना शुरू कर देते हैं तो यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को फिर से मजबूत बनाकर आपके शरीर की रक्षा करती है.

10 .त्वचा के लिए-

एलोवेरा त्वचा के लिए भी काफी लाभदायक होता है. इससे त्वचा से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती है जैसे-

1 .सनबर्न-

कई बार आपको धुप में रहने के कारण सनबर्न यानी कि सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों की वजह से त्वचा को काफी नुकसान पहुंचता है और त्वचा सांवली पड़ जाती है. ऐसी अवस्था में एलोवेरा का इस्तेमाल करना काफी लाभदायक होता है. यदि आप रात में सोने से पहले या बाहर से घर आने के बाद चेहरे को अच्छी तरह से धोकर एलोवेरा जेल से अपने चेहरे की मसाज करते हैं तो आपको सनबर्न की समस्या से छुटकारा मिलेगी और आपकी त्वचा को पोषण मिलेगा. जिससे आपकी त्वचा चमकदार बनेगी.

2 .कील- मुहांसों की समस्या के लिए-

अक्सर युवतियों एवं युवाओं में कील- मुहांसों की समस्या बहुत ही बड़ी होती है और इससे काफी परेशानी महसूस करते हैं. लेकिन एलोवेरा एंटीबैक्टीरियल गुण के साथ आता है इसलिए यह आपकी कील- मुहांसों को भी ठीक करता है. दरअसल, जब आप एलोवेरा को अपने चेहरे पर लगाते हैं तो इसका एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा पर हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म कर देता है वही संक्रमण को भी खत्म कर देता है जिसके कारण आपके कील- मुंहासे धीरे-धीरे कम होने लग जाते हैं. यदि आप कील- मुहांसों से जल्दी राहत पाना चाहते है तो आपको नियमित एलोवेरा जेल का इस्तेमाल अपने चेहरे पर करना चाहिए साथ ही प्रतिदिन सुबह खाली पेट एलोवेरा जेल पीना चाहिए.

11 .बालों के लिए-

एलोवेरा बालों के लिए भी काफी लाभदायक होती है. यह बालों से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में आपकी मदद करता है जैसे-

1 .डैंड्रफ की समस्या-

बालों में डैंड्रफ का होना बहुत ही आम समस्या है जिसे ठीक करने में एलोवेरा आपकी मदद कर सकता है. इसके लिए आपको दो चम्मच बेसन और एक चम्मच एलोवेरा जेल एवं दो चम्मच नींबू का रस लेना है और इसे अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें. इस पेस्ट को अपने स्कैल्प पर लगाएं और अच्छी तरह से मालिश करें. कुछ देर मालिश करने के बाद इसे थोड़ी देर के लिए छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से अपने बालों को शैंपू कर लें. एक- दो बार के इस्तेमाल से ही आपको डैंड्रफ की समस्या से राहत मिलेगा.

2 .झड़ते बाल की समस्या-

झड़ते बालों के लिए भी एलोवेरा काफी लाभदायक होता है क्योंकि इसमें एंटी बैक्टीरियल एवं एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं जो स्कैल्प पर होने वाले संक्रमण को तो रोकते ही है साथ ही एलोवेरा में पाए जाने वाला विटामिन सी आपके बालों की जड़ों को मजबूत बनाता है. यदि आपको बालों से जुड़ी कोई समस्या है तो आपको एलोवेरा जूस का नियमित कुछ दिनों तक सेवन करना चाहिए.

3 .बालों को बढ़ने में करता है मदद-

यदि आप अपने बालों को लंबा, घना और मजबूत बनाना चाहते हैं तो एलोवेरा का इस्तेमाल करना सबसे बेहतर उपाय रहेगा. एलोवेरा का तेल आपको बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाएगा. इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण सभी प्रकार के संक्रमण को दूर रखेगा और इसमें मौजूद विटामिन और प्रोटीन आपके बालों को मजबूत, लंबा एवं घना बनाने में मदद करेगा. जल्दी इसका लाभ पाने के लिए आपको एलोवेरा जूस का भी सेवन करना चाहिए.

12 .पुरुषों के लिए एलोवेरा के फायदे-

कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
कई बीमारियों की एक दवा है एलोवेरा, जाने इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

एलोवेरा पुरुषों की स्टैमिना बढ़ाने में काफी मददगार होता है क्योंकि एलोवेरा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन शरीर को एनर्जी प्रदान करते हैं. यह जहां एनर्जी बूस्टर करके एक्सरसाइज और रनिंग स्टैमिना बढ़ाता है वहीं पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को भी बढ़ाता है. इसके अलावा नियमित एलोवेरा का सेवन करने से फर्टिलिटी बेहतर होती है इसके सेवन से शुक्राणु की संख्या भी बढ़ाने में मदद मिलती है एवं सेक्स स्टैमिना को भी बेहतर बनता है. इसलिए दिन भर की थकान के बाद शरीर की स्टैमिना बरकरार रखने के लिए पुरुषों को एलोवेरा का करना लाभदायक होता है.

एलोवेरा के नुकसान-

एलोवेरा बहुत ही गुणकारी चीज है लेकिन यदि किसी भी चीज का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल किया जाए तो उसका नुकसान भी हो सकता है. इसलिए इसे जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने से बचना चाहिए.

1 .जरूरत से ज्यादा एलोवेरा का सेवन शुरू कर देने से आपके खून में मौजूद ब्लड शुगर लेवल बहुत ज्यादा कम हो सकता है जो खतरनाक हो सकता है. इसलिए नियमित मात्रा में ही इसका सेवन करना चाहिए.

2 .एलोवेरा में फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है और जब आप इसका ज्यादा सेवन करते हैं तो पेट में गैस, अपच, पेट दर्द, दस्त जैसी समस्याएं हो सकती है.

3 .एलोवेरा का ज्यादा इस्तेमाल करने के कारण डायरिया, किडनी की समस्या, मसल विकनेस, वेट लॉस, हार्ट प्रॉब्लम जैसी समस्या भी देखने को मिल सकती है. लेकिन यह काफी कम मामलों में ही होता है और तभी होता है जब जरूरत से ज्यादा एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता हो.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है. इसमें दी गई जानकारियां किसी इलाज का विकल्प नहीं है इसलिए किसी भी प्रयोग से पहले योग्य चिकित्सक की सलाह जरूर लें और जानकारी अच्छी लगी हो तो दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment