कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा

हेल्थ टिप्स- आज के समय में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो कब्ज की समस्या से परेशान नहीं रहता हो. कब्ज का मतलब होता है कि मल त्याग न होना, मल त्याग कम होना, मल में गाठें निकलना, लगातार पेट साफ नहीं रहना, प्रतिदिन मल त्याग नहीं होना, भोजन पचने के बाद उत्पन्न मल पूर्ण रूप से साफ न होना, मल त्यागने के बाद पेट हल्का और साफ न होना आदि को कब्ज कहते हैं.

कब्ज की समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है यह छोटे से लेकर बड़े, बूढ़े तक किसी को भी और कभी भी हो सकती है. कब्ज एक ऐसी समस्या है अगर इससे छुटकारा नहीं पाया गया तो बहुत पेट में दर्द होता है और यह असहनीय दर्द भी हो सकता है. अधिक दिनों तक कब्ज की समस्या रहने के कारण बवासीर की बीमारी भी हो सकती है.

आज हम एक लेख के माध्यम से कब्ज का इलाज कैसे करें ? कब्ज एक आम समस्या बन गई है यह हर व्यक्ति को परेशान करती है. जब किसी व्यक्ति का खाना पूरी तरह से पच नहीं पाता है तो उसे गैस की समस्या हो जाती है और गैस की समस्या होने पर ही कब्ज का होना संभव होता है.

कब्ज होने के क्या कारण है ?

खानपान संबंधित गलत आदतें जैसे- समय पर खाना ना खाना, बासी और अधिक चिकनाई युक्त भोजन करना, मैदा इत्यादि से बनाया गया भोजन, मांसाहारी भोजन अधिक करना, भोजन में फाइबर की कमी, अधिक भारी भोजन ज्यादा खाना, शौच रोकने की आदत, शारीरिक श्रम नहीं करना, विश्राम की कमी, मानसिक तनाव में रहना, आंतों का कमजोर होना, भरपूर मात्रा में पानी नहीं पीना, गंदगी में रहना, धूम्रपान का अधिक सेवन करना, कुछ दवाइयों के दुष्प्रभाव के कारण, भोजन करते समय अधिक पानी पीने से, मिर्च मसालेदार तथा तले- भुने पदार्थ जैसे पूरी- कचौड़ी, नमकीन, चाट- पकोड़े अधिक खाना, गुस्सा अधिक करना, दुख, आलस्य आदि कारणों से कब्ज की समस्या हो जाती है.

इसके अलावा भी कब्ज के कुछ और भी कारण होते हैं जैसे कि हमारा खाने का सही ढंग से ना पचना, खाना खाने के बाद तुरंत बैठ जाना या सो जाना आदि कारण भी हो सकते हैं.

कब्ज दूर करने के घरेलू नुस्खे-

1 .यदि आप कब्ज की समस्या से परेशान हैं तो 1 किलो छोटी हरड़ लेकर उसे छाछ में भिंगों दें और इसे 24 घंटे तक छाछ में ही रहने दें. इसके बाद छाछ से निकालकर इसे सुखा लें और पीसकर पाउडर बनाकर सुरक्षित रख लें. अब इसमें से रात को सोते समय 4 ग्राम की मात्रा में घड़े के पानी के साथ सेवन करें. इसके सेवन से कठिन से कठिन और पुरानी से पुरानी कब्ज तथा पेट के सभी रोगों के लिए सबसे उत्तम औषधि है. अगर थोड़ी मेहनत और कर सके तो हरड़ के पाउडर को अरंडी के तेल में हल्का सा भून लें तो यह काफी गुणकारी हो जाएगा. जिनको अधिक कब्ज की समस्या रहती है वह तली हुई चीजें, गरिष्ठ भोजन ना लें. ज्यादा फाइबर वाली चीजें सेवन करें.

2 .सुबह उठने के बाद पानी में नींबू का रस और काला नमक मिलाकर पिएं. इससे पेट अच्छी तरह से साफ हो जाएगा और कब्ज की समस्या नहीं होगी.

कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा
कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा

3 .शहद का सेवन कब्ज के लिए बहुत ही लाभदायक है. रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद को एक गिलास पानी के साथ मिलाकर पिएं. इसके नियमित सेवन करने से कुछ ही दिनों में कब्ज की समस्या से राहत मिलेगी.

कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा
कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा

4 .सुबह उठकर प्रतिदिन खाली पेट चार-पांच काजू उतने ही मुनक्का के साथ खाने से भी कब्ज की शिकायत दूर होती है. इसके अलावा रात को सोने से पहले 6-7 मुनक्का खाने से भी कब्ज से राहत मिलता है.

5 .कब्ज से छुटकारा पाने के लिए आधा गिलास हल्के गर्म दूध में एक चम्मच अरंडी का तेल मिलाकर पी सकते हैं इससे सुबह पेट अच्छी तरह से साफ हो जाएगा.

6 .ईसबगोल की भूसी कब्ज के लिए रामबाण दवा है. आप इसका प्रयोग दूध या पानी के साथ कर सकते हैं. इसके लिए रात को सोने से पहले एक चम्मच की मात्रा में सेवन करें.

7 .फलों में अमरूद और पपीता कब्ज के लिए बेहद लाभदायक होता है. इनका सेवन किसी भी समय किया जा सकता है. इन्हें खाने से पेट की समस्याएं समाप्त हो जाती है.

8 .किशमिश को कुछ देर तक पानी में गलाने के बाद इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है. इसके अलावा अंजीर को भी रात भर पानी में भिंगोने के बाद इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है.

कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा
कब्ज से हमेशा के लिए मिल जाएगा छुटकारा, आजमाएं ये घरेलू नुस्खा

9 .कब्ज से बचने के लिए नियमित रूप से व्यायाम और योगा करना फायदेमंद होता है. इसके अलावा हमेशा गरिष्ठ भोजन करने से बचना चाहिए.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है हालांकि उपर्युक्त नुस्खे का सेवन करना किसी भी तरह से हानिकारक नहीं है फिर भी इसके सेवन से पहले योग्य चिकित्सक की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment