मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए क्या करें ? जाने आसान घरेलू उपाय

हेल्थ डेस्क- हर पुरुष की चाहत होती है कि वह शारीरिक क्रियाओं का लुफ्त अच्छे तरीके से उठाएं. लेकिन कई बार यौनशक्ति के ना होने से पुरुष मनचाहा शारीरिक संबंध नहीं बना पाता है और खुद की मर्दानगी पर सवाल खड़े करता है. ऐसे पुरुषों को जरूरत है सही और सटीक मार्गदर्शन की.

आज के बदलते लाइफस्टाइल में अनियमित खानपान, खानपान में पौष्टिक तत्वों की कमी, धूम्रपान का अधिक करना इत्यादि के कारण शारीरिक कमजोरी का होना एक आम समस्या है. ऐसे में पुरुषों में शारीरिक कमजोरी होने के कारण उनकी मर्दानगी प्रभावित होने लगती है और वे शारीरिक संबंध का भरपूर आनंद नहीं ले पाते हैं. ऐसे में कई लोग होते हैं जो वियाग्रा जैसी सेक्स वर्धक दवाओं का सेवन करने लगते हैं जो कई बार उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक साबित होता है. आज हम इस लेख के माध्यम से कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसकी मदद से खोई हुई मर्दाना ताकत आप फिर से वापस पा सकते हैं और अपनी मर्दानगी को कामयाब बना सकते हैं.

मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए क्या करें ?

1 .करें अनार का सेवन-

अनार का सेवन करना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसके सेवन से शरीर में खून की कमी दूर होने के साथ ही स्पर्म काउंट में वृद्धि होती है. इसके सेवन से ब्लड फ्लो अच्छी तरीके से होता है. जननांगों में ब्लड फ्लो अच्छी तरीके से होने की वजह से स्पर्म की गुणवत्ता और मात्रा बढ़ता है जिस वजह से नपुंसकता की समस्या दूर हो जाती है. अनार का सेवन करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप इसका जूस पिएं या फिर आप प्रतिदिन एक अनार चबाकर खा सकते हैं.

2 .करें अंडे का सेवन-

अंडा एक ऐसा फूड है जिसमे प्रचुर मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है. अगर हम बात करें प्रोटीन से भरपूर फूड की तो सबसे पहले हमारे दिमाग में अंडे का नाम ही आता है. साथ ही इसमें विटामिन ई भी मिलता है जो मर्दानगी को बढ़ाने में काफी मददगार होता है. इसका सेवन करना सेहत के लिए हमेशा ही फायदेमंद होता है. अंडे में मौजूद जिंक स्पर्म काउंट बढ़ाने में मदद करती है. अगर आप अंडे को उबालकर सेवन करें तो आपको ज्यादा लाभ मिलता है क्योंकि आमलेट में तेल मिश्रण हो जाने से इसकी शक्ति में कमी आ जाती है इसलिए यदि आप मर्दाना कमजोरी से बाहर निकलना चाहते हैं तो प्रतिदिन एक से दो अंडे उबालकर सेवन करें.

3 .करें गाजर का सेवन-

गाजर एक ऐसी चीज है जिसका सेवन सब्जी, सलाद, जूस या सीधे ही किया जाता है. इसके अलावा गाजर का हलवा बनाकर भी खाया जाता है जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है. गाजर का सेवन करना सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है. गाजर में कई ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो पुरुषों का स्पर्म काउंट बढ़ाने के साथ ही मर्दाना शक्ति बढ़ाने में मदद करता है क्योंकि यह फ्री रेडिकल्स से बचाता है इसलिए बेहतर है कि आप गाजर का किसी भी रूप में सेवन करें.

4 .करें खजूर का सेवन-

मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए क्या करें  जाने आसान घरेलू उपाय
मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए क्या करें जाने आसान घरेलू उपाय

खजूर का सेवन करना जितना स्वादिष्ट होता है स्वास्थ्य के लिए भी उतना ही लाभदायक होता है. इसमें कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसकी वजह से यह आपके पाचन के लिए लाभदायक होता है. अगर आप इसका सेवन करते हैं तो इससे आपका पाचन शक्ति मजबूत होती है जिससे पेट से जुड़ी समस्याएं दूर रहती है. साथ ही इसकी सेवन से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है. इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर को ताकत प्रदान करते हैं इसमें आयरन भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो हमारे शरीर में खून की कमी को दूर करता है इसके नियमित सेवन करने से हमारा शरीर हृष्ट- पुष्ट और बलवान बनता है साथ ही स्पर्म की गुणवत्ता भी अच्छी होती है और इसकी तासीर गर्म होने के कारण मर्दाना ताकत में भी वृद्धि होती है इसके लिए 2-3 खजूर खाकर गुनगुना दूध पीना चाहिए.

5 .करें अश्वगंधा का सेवन-

यौन संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए अश्वगंधा आयुर्वेद में बहुत ही प्रचलित जड़ी- बूटी है. यदि आप मर्दाना कमजोरी की समस्या से जूझ रहे हैं तो प्रतिदिन 2 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण का सेवन शहद और दूध के साथ करें. इसके सेवन से आपको बेहतर परिणाम मिलेगा.

6 .करें आंवले का सेवन-

आंवले का सेवन करना सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है. इसके सेवन से पेट से जुड़ी हर तरह की समस्याएं दूर हो जाती है. इतना ही नहीं आंवला में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो यौन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मददगार होते हैं. यदि आप मर्दाना कमजोरी को दूर करना चाहते हैं तो दो चम्मच आंवले के रस में एक छोटा चम्मच सूखे आंवले का चूर्ण और एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में 2 बार सेवन करें. कुछ ही दिनों में परिणाम सामने होगा.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है. किसी बीमारी के इलाज का विकल्प नहीं है. अतः किसी भी प्रयोग से पहले योग्य चिकित्सक की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment