वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या और सेक्स पावर बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

हेल्थ डेस्क- आजकल की बदलती लाइफस्टाइल में अनियमित खानपान, खानपान में पौष्टिक तत्वों की कमी, कुछ गलत आदतें और बढ़ते तनाव इत्यादि के कारण कई लोग वीर्य पतलेपन, नपुंसकता, शीघ्रपतन, शुक्राणु की कमी, शुक्राणु का कमजोर होना जैसी समस्या से परेशान रहते हैं. पुरुष नपुंसकता के लिए सबसे आम कारण में से एक है क्योंकि शुक्राणु अंडे के निषेचन करने वाला हो, हो सकता है कि उस शुक्राणु का उत्पादन ही नहीं हो रहा हो.

वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या और सेक्स पावर बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय
वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या और सेक्स पावर बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम से कम 20 मिलियन प्रति मिलीलीटर वीर्य में होनी चाहिए. कम से कम 15 मिलियन शुक्राणु प्रति लीटर से कम शुक्राणु की संख्या में माना जाता है जिसे ओलिगोस्पर्मिया कहा जाता है.

सेक्स पावर कम होने के लक्षण क्या है ?

यौन उत्तेजना का न होना.

शीघ्रपतन हो जाना.

चरमसुख यानि ओर्गेज्म समय का कम होना.

शारीरिक संबंध के दौरान संतुष्टि की प्राप्ति न होना.

यौन प्रदर्शन में कमी आ जाना.

सेक्स पावर कम होने के क्या कारण है ?

सेक्स पावर कम होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें से कुछ मुख्य कारणों के बारे में बताया जा रहा है-

टेस्टोस्टेरोन का लेवल कम होना.

शारीरिक ताकत में कमी आना.

नपुंसकता का होना.

उम्र का ज्यादा होना.

तनाव या चिंता में अधिक रहना.

कुछ पुराने और जटिल रोग जैसे- डायबिटीज, ह्रदय रोग इत्यादि का होना.

शुक्राणु की संख्या और सेक्स पावर बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय-

1 .तनाव से रहें दूर-

सेक्स पावर और शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए आपको तनाव से दूरी बना कर रखना चाहिए. क्योंकि तनाव से आपके स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है. एक अध्ययन में इस बात का पता चला है कि तनाव व्यक्ति की सेक्सुअल गतिविधियों को प्रभावित करता है. तनाव के कारण ह्रदय गति असामान्य हो जाती है. इसके साथ ही तनाव के कारण उच्च रक्तचाप की समस्या उत्पन्न हो जाती है. यह दोनों ही समस्याएं आपकी यौन गतिविधि पर बुरा प्रभाव डालती हैं.

इसके अलावा तनाव से उत्तेजना में कमी और चरम सुख पर पहुंचना भी मुश्किल हो जाता है. अगर आपका साथी तनाव में है तो आपको उसके तनाव को दूर करने के लिए उसकी पूरी सहायता करनी चाहिए. कई बार तनाव के कारण व्यक्ति शराब इत्यादि नसे का सेवन करने लगता है जो सेक्स पावर और शुक्राणुओं की संख्या पर बुरा प्रभाव डालता है इसलिए तनाव से दूरी बनाकर रखें.

2 .करें लहसुन का सेवन-

आप लहसुन के कई फायदे के बारे में पहले से ही जानते हैं लेकिन आपको बता दें कि सेक्स पावर बढ़ाने की लिए भी लहसुन का सेवन किया जा सकता है. सेक्स पावर बढ़ाने के लिए आप प्रतिदिन लहसुन की एक- दो कलियों का खाली पेट सेवन करें. इससे आपकी कामेच्छा में प्राकृतिक रूप से बढ़ोतरी होती है. लहसुन सेक्स पावर बढ़ाने का राज है कि इससे रक्त संचार यौन अंगों में तीब्रता से आती है जिससे सेक्स के दौरान उत्तेजना लंबे समय तक बनी रहती है और आप अधिक समय तक शारीरिक संबंध बनाते हैं. वही यौन अंगों तक रक्त संचार सही होने के कारण शुक्राणुओं को पोषण मिलती है जिससे शुक्राणु सबल हो जाते हैं.

शरीर की कमजोरी, थकान, खून की कमी दूर कर मर्दाना ताकत को बेहतर बढ़ाती है ये 12 चीजें

मर्दाना कमजोरी दूर करने के लिए बेहतर उपाय है किशमिश और शहद का ये नुस्खा, जानें इस्तेमाल करने के तरीके

3 .करें अश्वगंधा का सेवन-

अश्वगंधा औषधीय गुणों से भरपूर होता है. इसका प्रयोग महिला व पुरुषों की गुप्त रोगों को दूर करने के लिए सदियों से किया जाता रहा है. अश्वगंधा जड़ का जूस पीने से वीर्य गाढ़ा होता है एवं शुक्राणु की गतिशीलता बढ़ जाता है. इसके अलावा यह जड़ी- बूटी स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन उत्पादन को भी बढ़ावा देता है. इसके लिए एक गिलास दूध में आधा चम्मच अश्वगंधा चूर्ण मिलाएं और प्रतिदिन सुबह खाली पेट नियमित पिएं. ऐसा करने से वीर्य गाढ़ा हो जाएगा और शुक्राणु की संख्या बढ़ेगी. साथ ही शारीरिक ताकत भी मजबूत होगा.

4 .करें पैनेक्स जिंसेंग का सेवन-

पैनेक्स जिंसेंग कुरियन जिंसेंग के रूप में भी जाना जाता है. यह दवा तनाव को दूर करने के लिए चाइनीज दवाइयों में इस्तेमाल किया जाता है. टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने के लिए शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता की वृद्धि करने के लिए भी इसका सेवन करना लाभदायक होता है.

5 .पिएं ग्रीन टी-

ग्रीन टी में एक एंटीऑक्सीडेंट की अधिक मात्रा होती है जिसके वजह से यह फर्टिलिटी को बढ़ाती है. यह शुक्राणु कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाले मुक्त कणों को बेअसर कर देती है. ग्रीन टी में मौजूद एपीगैलोकेटचीन गैलेट शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार करता है. जिससे शुक्राणुओं की गतिशीलता बढ़ती है और इस प्रकार गर्भ निषेचन के लिए इसकी क्षमता में सुधार होता है.

6 .करें माका जड़ का सेवन-

काला किस्म का माका जड़ शुक्राणु उत्पादन और उसकी गतिशीलता को मजबूत बनाने में मददगार होता है. यह एक लोकप्रिय प्रजनन जड़ी- बूटी है जो हार्मोन संतुलन में मदद करती है. इसके लिए कुछ महीनों तक प्रतिदिन 1 से 3 चम्मच माका जड़ का पाउडर दिन में 2 बार सेवन करें. आप इसे एक गिलास पानी में प्रोटीन सेक या फिर से चुटकी भर लेकर अपने खाने में मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं. इसे कुछ दिन सेवन करने शुक्राणुओं की संख्या एवं सेक्स पावर वृद्धि होने लगती है.

7 .करें कौंच बीज का सेवन-

कौंच बीज का चूर्ण वीर्य को गाढ़ा करने के साथ ही सेक्स पावर को बढ़ाने के लिए काफी असरकारी उपायों में से एक है. इसके लिए कौंच बीज को रात भर के लिए पानी में डाल दें. सुबह इसका छिलका हटाकर धूप में सुखा लें और पीसकर पाउडर बनाकर सुरक्षित रख लें. इस चूर्ण में से एक चम्मच की मात्रा में प्रतिदिन सुबह खाली पेट दूध के साथ सेवन करें. कुछ ही दिनों में शुक्राणुओं की संख्या में सुधार होगा. क्षमता बढ़ेगी और नपुंसकता की समस्या से छुटकारा मिलेगी.

8 .करें धमियाना का सेवन-

दामियाना शुक्राणुओं की घटती संख्या के लिए बहुत ही अच्छी जड़ी- बूटी है एक चौथाई चम्मच सुखी दमियाना की पतियों को एक कप गर्म पानी में डालकर 5- 10 मिनट तक उबालकर छानकर शहद मिलाकर पीने से लाभ होता है. इसके लिए दिन में तीन बार कुछ महीनों तक लगातार पीना चाहिए.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है किस भी प्रयोग से पहले योग्य चिकित्सक की सलाह जरूर लें और जानकारी अच्छी लगे तो शेयर करें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment