माइग्रेन के दर्द में मिलेगा आराम, करें ये आसन

हेल्थ डेस्क- सिर दर्द का होना एक आम समस्या है. लेकिन यदि यही दर्द माइग्रेन का हो तो असहनीय पीड़ा होती है. ध्वनि और तापमान में बदलाव होने पर भी माइग्रेन का दर्द कम या अधिक हो जाती है. मेडिकल साइंस के अनुसार आधे सिर में होने वाले इस दर्द की वजह मस्तिष्क में सही ढंग से रक्त संचार का ना होना है. इसके अलावा चिंता व अवसाद को भी इसका जिम्मेदार माना जाता है. कुछ योगासन करके भी इस दर्द से राहत पाया जा सकता है.

माइग्रेन के दर्द में मिलेगा आराम, करें ये आसन

1 .हस्त पादासन-

माइग्रेन सिरदर्द से आराम पाने के लिए हस्त पादासन मददगार हो सकता है. इस आसन को करने के लिए शांत जगह में सीधे खड़े हो जाएं. इसके पश्चात दोनों हाथ सिर पर रखे और सांस को अंदर की ओर खींचते हुए घुटनों को ढीला करें. अब कमर को मोड़ते हुए आगे की ओर झुके, धीरे-धीरे हिप्स को ऊपर की ओर उठाएं और हाथो को पैर के पंजों की बगल में जमीन पर रखें.

इस बात का ध्यान रखें कि इस दौरान पैर एक दूसरे के बराबर में रहेंगे और छाती पैरों का स्पर्श करेगी. जांघों को अंदर की ओर दबाएं और सिर को नीचे की ओर झुका कर पैरों के बीच से झांकने की कोशिश करें. इस स्थिति में लगभग 25 से 30 सेकेंड रहने के बाद सामान्य अवस्था में आ जाएं. इससे रक्त संचार बेहतर तरीके से होगा और इसके नियमित अभ्यास से माइग्रेन के दर्द में काफी राहत मिलेगा.

2 .मार्जरासन-

इस आसन को करने के लिए घुटनों और दोनों हाथों के बल होकर एकदम मेज की स्थिति में आ जाएं. पीठ इस तरह से रखें जैसे मेज का ऊपरी हिस्सा होता है. हथेलियां जमीन में अच्छी तरह चिपका कर रखें और गर्दन व नजर सामने रखें. अब सांस लेते हुए ठोढ़ी को ऊपर की ओर और सिर को पीछे की ओर ले जाएं. इसके बाद नाभि को जमीन की ओर और कमर के निचले हिस्से को ऊपर की तरफ ले जाएं. अंदर की ओर गहरी सांस लें और फिर इसके विपरीत सांस छोड़ते हुए ठोढ़ी को छाती से लगाए और पीठ को धनुष आकार में उठाए. इस स्थिति में सामर्थ्य के हिसाब से बने रहे और फिर मेज वाली स्थिति में आ जाए. इसका 5 से 7 बार प्रतिदिन अभ्यास करें. धीरे-धीरे सिर दर्द कम होगा और सिर का भारीपन भी दूर हो जाएगा.

3 .पद्मासन-

माइग्रेन के दर्द से राहत देने में पद्मासन काफी मददगार होता है. योग का यह आसन ध्यान व कमलासन भी कहलाता है. पद्मासन का अभ्यास सुबह-सुबह करना बहुत लाभकारी होता है. इसे करने के लिए आसन में रीढ़ सीधी करके बैठ जाएं. अब दाएं घुटने को मोड़कर बाएं जांघ पर रखें. अब इसी तरह बाएं पैर को दायीं जांघ पर रखें. ध्यान रहे कि इस स्थिति में एड़ी पेट को स्पर्श करें. तलवे ऊपर की ओर रहे. अब दोनों पैरों का क्रॉस बन जाएगा. इसके बाद अपने हाथों को घुटनों पर रखकर ध्यान मुद्रा में आ जाएं. सिर को सीधा रख कर मन को एकाग्र करें और गहरी सांस लें. इसका 1 से 3 मिनट नियमित अभ्यास करें. पद्मासन से सकारात्मकता आती है और मन शांत रहता है. यह माइग्रेन के साथ ही उलझन, तनाव और घबराहट को दूर करने में भी मददगार होता है.

4 .प्रसारित पादोत्तासन-

यह आसन ऑक्सिजनेटेड ब्लड से आपके मस्तिष्क को ताजा करता है. यह आसन माइग्रेन सिरदर्द से राहत पाने के लिए सबसे बेहतर आसनों में से एक है. इसे करने के लिए सीधे खड़े होकर अपने हाथों को साइड में इन्हें रखें और अपने पैरों को अलग करें. आपके पैर सीधे कलाई के नीचे होना चाहिए. अब अपने हाथों सामने लाइए और आगे बढ़े. जब तक कि आपका सिर फर्श को छू जाए. अब फर्श पर अपनी हथेलियों को रखें. कुछ मिनट के लिए इस स्थिति में रहे और फिर मूल स्थिति पर आ जाएं.

नोट- यह लेख शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है. किसी भी आसन को करने से पहले योग्य योगाचार्य की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment