शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने के फायदे

हेल्थ डेस्क- आयुर्वेद में त्रिफला चूर्ण और शहद का सेवन करना काफी फायदेमंद बताया गया है. अगर सही मात्रा में और सही तरीके से इसका सेवन किया जाए तो यह हमारे सेहत को ठीक रखने में मददगार होता है क्योंकि त्रिफला वात, पित्त और कफ तीनों दोषों को शमन करने वाला होता है तो वहीं शहद कई बीमारियों को दूर करने में मददगार होता है.

त्रिफला चूर्ण क्या है ?

शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने के फायदे
शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने के फायदे

त्रिफला शब्द का शाब्दिक अर्थ तीन फल होता है. आयुर्वेद का त्रिफला तीन ऐसे फलों का मिश्रण है जो तीनों ही अमृतीय गुणों से भरपूर होता है. त्रिफला आंवला, बहेड़ा और हरड़ के मिश्रण से तैयार किया जाता है. इसे आयुर्वेद में अमलकी, विभितक और हरीतकी कहा गया है. इन तीनों फलों में से बीज को निकालकर बराबर मात्रा में लेकर पीसकर पाउडर बना लिया जाता है जिसे त्रिफला चूर्ण कहते हैं.

एक अध्ययन से पता चला है कि त्रिफला का सेवन रेडियोधर्मिता से भी बचाव करता है. प्रयोगों में देखा गया है कि त्रिफला की खुराकों से गामा किरणों के रेडिएशन के प्रभाव से होने वाली अस्वस्थता के लक्षण भी नहीं पाए जाते हैं. इसलिए त्रिफला चूर्ण को आयुर्वेद का अनमोल उपहार कहा जा सकता है.

त्रिफला त्रिदोष नाशक यानी तीनों दोषों का नाश करने वाला है. आयुर्वेद के अनुसार हमारे शरीर को रोग ग्रस्त होने का कारण वात, पित्त और कफ का बिगड़ना होता है और त्रिफला इस समस्या को सही करता है और शरीर को स्वास्थ्य प्रदान करता है.

शहद क्या है ?

शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने के फायदे
शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने के फायदे

शहद मधुमक्खियों द्वारा कई तरह के फूलों के रसों से बनाया गया एक मीठा, चिपचिपा खाद्य पदार्थ है. इसमें प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस, सोडियम, कॉपर, सेलेनियम, जिंक जैसे अनेक खनिज और विटामिन्स मौजूद होते हैं. इसका अकेले ही सेवन करना शरीर के लिए काफी लाभदायक होता है लेकिन यदि इसे किसी गुणकारी औषधियों के साथ सेवन किया जाता है तो यह उनके गुणों को कई गुना तक बढ़ाने की क्षमता रखता है.

शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने के फायदे-

1 .शहद के साथ त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से पाचन प्रणाली को मजबूती मिलती है. पाचन से जुड़ी समस्याएं जैसे कब्ज, गैस, भूख नहीं लगना जैसे अनेकों पेट से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती है.

2 .शहद के साथ त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ मल- मूत्र आदि के द्वारा शरीर से बाहर निकल जाते हैं. यह विषाक्त पदार्थ हमारे शरीर में रहने पर शरीर को रोगों का घर बना देता है.

3 .शहद के साथ त्रिफला चूर्ण मिलाकर खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के मुख्य कारणों में खराब पाचन क्रिया और शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ होते हैं. इन कारणों को इस मिश्रण के नियमित सेवन करने से दूर किया जा सकता है.

4 .कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण खांसी, जुकाम और बुखार जैसे अनेक रोग होते हैं. शहद के साथ त्रिफला चूर्ण को मिलाकर खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. जिससे इन समस्याओं से छुटकारा मिलता है.

5 .शहद के साथ त्रिफला चूर्ण खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद मिलती है जिससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है जिससे एनीमिया नामक रोग से बचाव होता है.

6 .शहद के साथ त्रिफला चूर्ण का सेवन मधुमेह के मरीजों के लिए भी लाभदायक होता है. इन दोनों को मिलाकर सेवन करने से ब्लड शुगर पर नियंत्रण बनाए रखने में मदद मिलती है. हालांकि इसका सेवन करने से पहले मधुमेह के मरीजों को योग्य चिकित्सक से सलाह ले लेनी चाहिए.

7 .शहद के साथ त्रिफला चूर्ण का सेवन आपके वजन को भी नियंत्रित रखने में मददगार होता है क्योंकि इसके सेवन से भूख नियंत्रण में रहती है और शरीर की फालतू चर्बी आपको एक्टिव रहने पर इस्तेमाल हो जाएगी जिससे आपको वजन नियंत्रण रखने में मदद मिलेगी.

8 .त्रिफला चूर्ण में एंटीबैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं और यह शरीर के टॉक्सिंस को भी शरीर से बाहर निकालने का काम करते हैं. जिससे आपकी त्वचा चमकदार बनती है लेकिन जब आप त्रिफला चूर्ण को शहद के साथ सेवन करते हैं तो इसके गुणों में वृद्धि हो जाती है.

9 .यूरिन इन्फेक्शन की शिकायत होने पर त्रिफला और शहद का सेवन करना काफी लाभदायक होता है क्योंकि त्रिफला चूर्ण और व शहद दोनों में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं इसलिए इस मिश्रण का सेवन करने से यूरिन इन्फेक्शन की समस्या दूर हो जाती है.

10 .भूख बढ़ाने के लिए शहद के साथ त्रिफला चूर्ण का सेवन करना फायदेमंद होता है क्योंकि इसके सेवन से बेहतर पाचन, भोजन के अवशोषण और मल त्याग में मदद मिलती है साथ ही त्रिफला भूख को उत्तेजित करने का काम भी करता है जिससे भूख बढ़ने में मदद मिलती है वही शहद भी भूख को बढ़ाने में मदद करता है.

शहद के साथ त्रिफला चूर्ण का उपयोग कैसे करें ?

त्रिफला चूर्ण और शहद के फायदे आप अच्छी तरह से जान चुके हैं लेकिन अच्छा लाभ लेने के लिए त्रिफला चूर्ण और शहद का उपयोग भी जानना जरूरी है.

1 .त्रिफला चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर भी सेवन किया जा सकता है.

2 .गुनगुने पानी में त्रिफला चूर्ण और शहद को मिलाकर भी सेवन किया जा सकता है.

3 .इसके अलावा एक गिलास पानी में त्रिफला चूर्ण, शहद और नींबू मिलाकर भी सेवन किया जा सकता है.

नोट- त्रिफला चूर्ण और शहद का इस्तेमाल विभिन्न बीमारियों को दूर करने में मददगार हो सकता है. लेकिन इसका उपयोग करने से पहले विशेषज्ञ या डॉक्टर की सलाह जरूर लें क्योंकि इसके सेवन की सही मात्रा का निर्धारण आपके शरीर एवं शरीर में हुई बीमारियों के अनुसार किया जाएगा. तब यह आपके सेहत के लिए काफी लाभदायक होगा.

Share on:

मैं आयुर्वेद चिकित्सक हूँ और जड़ी-बूटियों (आयुर्वेद) रस, भस्मों द्वारा लकवा, सायटिका, गठिया, खूनी एवं वादी बवासीर, चर्म रोग, गुप्त रोग आदि रोगों का इलाज करता हूँ।

Leave a Comment